Main Menu

शाहिद ने मीरा और मीशा को लेकर कही थी ये बातें, दूसरी बार पिता बनते ही इंटरनेट पर वायरल वीडियो ने मचाया तहलका

बॉलीवुड एक्टर शाहिद कपूर और मीरा राजपूत एक बार फिर से पैरेंट्स बन गए हैं। इनके घर में मीशा के बाद अब एक नन्हे मेहमान ने जन्म लिया है। बीती रात यानि कि, 5 सितंबर को मीरा ने बेटे को जन्म दिया। इससे दो साल पहले मीरा-शाहिद बेटी मीशा के पैरेंट्स बने हैं और अपने इन्हीं पलों को वो बहुत मस्ती से एंजॉय कर रहे हैं।

आपको बता दें कि, शाहिद-मीरा अक्सर शो के दौरान एक-दूसरे को लेकर खुलकर बात करते हैं। इस बार भी शाहिद ने अपने घर में नन्हे मेहमान के आने से पहले राजीव मसंद के शो में अपनी निजी जिंदगी को लेकर कई राज खोले हैं। इस शो के दौरान शाहिद ने कहा था, ‘मैं एक सिंपल इंसान हूं, हालांकि मैं एक शानदार लाइफस्टाइल के साथ जी सकता हूं। मैं बहुत खुश हूं कि मैं अपनी जिंदगी एक ऐसे इंसान के साथ बिता रहा हूं जिसकी सोच मेरे जैसी है। मैं उनसे थोड़ा ज्यादा सिंपल हूं। वो कभी-कभी थोड़ा अलग और असाधारण होना पसंद करती है, जो मुझे लगता है कि अद्भुत है।’

इस दौरान शाहिद की बातों से साफ नजर आ रहा था कि वो अपने परिवार से कितना अटैच हैं। ऐसे में मीरा की डिलीवरी के बात करते हुए शाहिद ने कहा था कि, अगर अभी मुझे फोन आया तो मैं यह शो बीच में ही छोड़कर चला जाऊंगा, बाद में वो हंसने लगे। साथ ही उन्होंने बेटी मीशा और पत्नी मीरा के बारे में काफी बातें कही। मीशा की फोटोज सोशल मीडिया पर शेयर करने के बारे में शाहिद ने बताया, ‘मीरा ज्यादा करती हैं, कई बार मैं कहता हूं, अरे यार, मत पोस्ट करो, तो वो कहती हैं एक मां के तौर पर अगर मुझे कुछ अच्छा लगता है और गर्व होता है तो मैं क्यों न शेयर करूं, इसमें क्या गलत है।’

एक इंटरव्यू में शाहिद की पत्नी मीरा ने अपनी बेटी और परिवार को संभालने के बारे में कहा था, ‘मैं अपनी बेटी की अच्छे से परवरिश कर सकती हूं। एक अच्छी पत्नी बन सकती हूं, और अपना घर अपने तरीके से संभाल सकती हूं। इसके अलावा मेरे पास कोई और तरीका नहीं है।’ शाहिद ने मीशा को लेकर कहा था, ‘मैं सिर्फ ये चाहूंगा कि वह जो चाहती है वो करे। मैं उसे उसके लिए समर्थन दूंगा, प्रोत्साहित और प्यार करूंगा। माता-पिता के रूप में, आपको अपने बच्चे को सहारा देना और आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना होता है। न कि अपनी महत्वाकांक्षाओं का बोझ उन पर डाल दें। मैं कभी ऐसा नहीं करना चाहता। जब भी वह मुस्कुराती है तो मुझे खुशी होती है। मेरी खुशी उसकी खुशी में है।’

बता दें कि,  दूसरी बार मां बनने पर मीरा ने कहा था, ‘इस बार मेरे पास पहले से ही एक बच्चा है और मैं इन दोनों में सही संतुलन रखना बड़ी जिम्मेदारी है। सब कुछ बदलता है और आप नहीं चाहते कि जो इतने दिनों तक आपकी आंख का तारा रहा हो वो अचानक उपेक्षित या अनदेखा महसूस करने लगे। ये संतुलन बनाना बड़ी जिम्मेदारी है।’ इसके अलावा शाहिद ने कहा था कि, ‘मैं सुबह उठने वाला व्यक्ति नहीं था, लेकिन क्योंकि मीशा जल्दी उठता है, इसीलिए मैं भी उसके साथ रहने के लिए कोशिश करता हूं और जल्दी उठता हूं। मैं ऐसा नहीं था। उठने के बाद हमेशा मुझे 20 मिनट और लगते थे।’ मीरा-शाहिद की यह बातें अच्छे पैरेंट्स बनने में हर किसी को प्रेरित करेगी।






Related News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *