Main Menu

विश्व का नया तानाशाह किम जोंग

दुनिया भर में तानाशाह शासकों का इतिहास भरा पड़ा है. ये तानाशाह अपनी अजीबोगरीब सनक और अमानवीय अत्याचार के लिए कुख्यात रहे हैं. विश्व में लोकतंत्र की स्थापना के बाद भी अनेक देशों में आज भी तानाशाह राज कायम है. इन दिनों उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग की सनक विश्व भर में चर्चित है. 35 वर्षीय किम जोंग आए दिन अमेरिका को परमाणु बम से उड़ा देने की धमकी देता रहा है. किम जोंग का एटम बम मिसाइल युद्ध प्रेम दुनिया के लिए बड़ा खतरा लग रहा है, अमेरिका उसे बार-बार चेतावनी दे रहा है।

किम ने पिछले दिनों एक बार फिर हाइड्रोजन बम का परीक्षण कर विश्व को भयभीत कर दिया. इस बात का पता तब चला जब भूकंप संबंधी जानकारी देने वाली निगरानी संस्थाओं ने 6.3 तीव्रता का विस्फोट दर्ज किया गया. किम ने जिस हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया था वह नागासाकी पर गिरे बम से 5 गुना ज्यादा शक्तिशाली था. यह उत्तर कोरिया का छठा सब से ताकतवर एटम बम परीक्षण था. इस के धमाके की ताकत पिछले परीक्षण से 9.8 गुना अधिक थी। बम के सभी उपकरण स्वयं उत्तर कोरिया ने ही तैयार किए थे. उत्तर कोरिया ने दावा किया था कि उस ने ऐसा हाइड्रोजन बम बनाया है जिसे देश की नई अंतरमहाद्वीपीय  बैलिस्टिक मिसाइल में लोड किया जा सकता है. वह पिछले 6 दशकों से अपने प्रतिद्वंदी अमेरिका जितनी दूरी तक मिसाइल दागने में लायक बनने के साधनों को ढूंढने में लगा हुआ था. यह बम मिसाइलों से दागा जा सकता है।

उत्तर कोरिया अपने 60 लाख सैनिकों के साथ विश्व की चौथी सब से बड़ी सैन्यशक्ति माना जाता है इसलिए किम जोंग दुनिया की परवाह नहीं कर रहा है. अमेरिका के साथ उस के संबंध निरंतर बिगड़ते जा रहे हैं. अगर हालात और भी बुरे हुए तो उत्तर कोरिया बम का इस्तेमाल करने से नहीं चूकेगा. अगर युद्ध छिड़ता है तो वह बहुत कम समय में हजारों मिसाइलें दाग कर सियोल को तहस नहस कर सकता है. वह अपनी अंतरमहाद्वीपीय मिसाइलों से अमेरिका के शहरों को भी निशाना बना सकता है. उत्तर कोरिया ने अपनी सब से विकसित ह्वासांग-12 मिसाइल का विश्व के सामने प्रदर्शन किया जो एटमी हथियार ले जाने में सक्षम है।

उत्तर कोरिया अमेरिका को राख के ढेर में बदल देने की धमकी दे रहा है. उधर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप उत्तर कोरिया को मिटा देने की धमकी दे रहे हैं. ऐसे हालात में तीसरे विश्व युद्ध का खतरा मंडराता जा रहा है. अगर अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच तनाव बढ़ेगा तो चीन और रूस भी बीच में आएगा क्योंकि चीन उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच एक संधि में बंधा हुआ है. इस संधि के अंतर्गत चीन या उत्तर कोरिया पर किसी दूसरे देश के हमला करने पर दोनों एकदूसरे की सहायता के लिए बाध्य होंगे. संधि की अवधि 2021 तक  है. हालात अगर बदतर होते हैं तो चीन का बीच में आना उस की विवशता होगी। अमेरिका बारबार विश्व समुदाय को उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण के खतरे से आगाह कर लामबंद करने की कोशिश कर रहा है इसीलिए चीन और रूस भी उत्तर कोरिया पर लगे संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों का समर्थन कर रहे हैं पर विश्व समुदाय जानता है कि चीन की सहायता के बिना उत्तर कोरिया एटमी परीक्षण नहीं कर सकता।

उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया की आपसी पुरानी दुश्मनी है. कोरियार्ई प्रायद्वीप पर 1950 में युद्ध छिड़ा था. इस युद्ध में उत्तर कोरिया ने सियोल पर कब्जा कर लिया था लेकिन दक्षिण कोरिया ने अमेरिका की सहायता से छुड़ा लिया. किम जोंग ने दिसंबर 2011 को अपने आप को तानाशाह बना लिया था. इस की आधिकारिक घोषणा करा दी गई. अपने पिता किम इल जोंग की मृत्यु के बाद उत्तर कोरिया का राज पा कर अपनी तानाशाही सनक  और रौबदाब दिखाने लगा. 1994 से 2011 तक किम इल जोंग ने अपने शासन में कई मानव अधिकारों को रौंदते हुए बड़ी तादाद में लोगों को मौत के घाट उतार दिया था. किम जोंग ने पिछले दिनों अपने फूफा जेंग सेंग थाएक को 120 भूखे कुत्तों के सामने छोड़ दिया था और कुत्तों ने उसे नोंचनोंच का मार डाला था. कहा जाता है कि फूफा ने ही उसे शासन की बारीकियां सिखाई थी. किम जोंग को लगने लगा था कि फूफा का रुतबा उस ने अधिक बढ़ रहा है।

फूफा के बाद किम जोंग ने अपनी बुआ किम क्योंग हुई को जहर दे कर मरवा दिया. देश में उनकी मौत को हार्ट अटैक बताया गया. किम जोंग चाहता था कि बुआ की मौत का सच सामने न आए पर देश से भागे एक सैनिक अफसर ने भंडाफोड़ कर दिया कि किम ने बुआ को जहर दे कर मरवाया है. बुआ ने पति की मौत पर सवाल खड़े किए थे और किम का विरोध करने लगी थीं जो उसे बर्दाश्त नहीं हुआ. किम को हुक्म की अवज्ञा पसंद नहीं है, ऐसा करने वालों को मौत की सजा दे दी जाती है. किम ने अपने रक्षा प्रमुख ह्योंग योंग को मरवा दिया था. योंग की गलती यह थी कि उसे एक कार्यक्रम में नींद की झपकी आ गई थी. कार्यक्रम में स्वयं किम जोंग उपस्थित था. सोया देख कर वह गुस्सा हो गया. इस पर उसने दूसरे अधिकारियों को भी मौत का तमाशा दिखाने के लिए मौजूद रहने का हुक्म सुनाया गया ताकि उन लोगों में भी खौफ उत्पन्न हो सके।

किम जोंग ने चीयरलीडर व सिंगर रि सोल जू से विवाह किया. वह उसकी बचपन की मित्र है. उसकी 5 अन्य पत्नियां भी हैं. वह रंगीन मिजाज और शानोशौकत के लिए जाना जाता है. किम ने अपनी गर्लफ्रेंड सहित उसके पूरे म्यूजिकल ग्रुप को मरवा दिया था. आरोप है कि उसका ग्रुप पोर्न फिल्म बनाता था। कुछ समय पहले जब किम जोंग के पिता की मृत्यु हुई तब भी उसने कई लोगों को मरवा दिया था. कारण यह था कि किम ने आदेश दिया था कि जब उसके पिता की अर्थी उठे तो सब को रोना पड़ेगा. उस दिन प्योंगयांग में हजारों लोग रो रहे थे पर जो नहीं रोया, उसे गिरफ्तार करने का आदेश दिया गया. दर्जनों लोगों को शोक नहीं मनाने के जुर्म में गोली मार कर मौत की सजा दे दी गई।

किम का आदेश है कि जो कोई उसके जैसी हेयर स्टाइल नहीं रखेगा, उसे सजा दी जाएगी. उसकी खुद की हेयर स्टाइल, कपड़े और जूते उत्तर कोरिया में मशहूर है. उसने 2000 में अपनी प्लास्टिक सर्जरी करा कर अपनी शक्ल बदलवाई थी। इसलिए कि वह अपने दादा किम इल सुंग की तरह दिखना चाहता था, उत्तर कोरिया में नागरिक अधिकारों का खुला उल्लंघन होता है. वहां इंटरनेट पर बंदिश है. वहां बाइबल रखने पर पाबंदी है. पर्यटकों के लिए फोटो खींचना, मोबाइल, कैमरा, लैपटॉप रखना मना है. नियमों के उल्लंघन पर सजा पक्की है।






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *