Main Menu

फैशन ब्लॉगिंग उभरता हुआ करियर

देश में महिलाओं ने सदियों से सजने संवरने की कला को सहेज कर रखा है. विभिन्न प्रांतों में रंग बिरंगे परिधानों की परंपरा अनंतकाल से जारी है. इसी परंपरा ने आधुनिक युग में फैशन डिजाइनिंग, टेक्सटाइल डिजाइनिंग ही नहीं बल्कि कला आदि विभिन्न कलात्मक विधाओं को नये रुप में प्रस्तुत किया है।

बचपन में गुड़ियों और स्वयं को सजाने की कला युवावस्था में फैशन के रुप में नजर आती है और वही रंगबिरंगी सोच शौक बनती हुई एक उज्ज्वल करियर को जन्म देती है. कुछ समय पहले नामीगिरामी कंपनियों को अपने प्रोडक्ट के प्रचार-प्रसार के लिए जीतोड़ प्रयास करने पड़ते थे. कई तरह से उनकी मार्केटिंग करनी पड़ती थी. लेकिन सोशल मीडिया ने सभी को एक बेहतरीन प्लेटफार्म उपलब्ध करा दिया है. अपने विचारों की अभिव्यक्ति के लिए अनेक लोग प्रोफेशनल का सहारा लेते हैं.

रोजगार की संभावनाएं

इस काम के लिए शुरुआत में आपके पास एक अच्छा कैमरा होना जरुरी है और साथ ही लेटेस्ट ट्रेंड के कपड़े भी, जिसपर आप फीचर कर सकें. आपके फैशन ब्लॉग के फॉलोअर्स की संख्या नामीगिरामी कंपनियों को आकर्षित करेगी. वे अपने प्रोडक्ट के एंडॉर्समेंट और कंटेंट डेवलपमेंट के लिए आप से संपर्क करेंगे. कंपनियां आपके नये ट्रेंड के कपड़े और एक्सेसरीज भी निशुल्क भेजती है और साथ ही काम के बदले आप को वाजिब मेहनताना भी दिया जाता है. इतना ही नहीं, आप चाहें तो फैशन मैगजीन्स के लिए भी फैशन फीचर्स या ब्लॉग लिख सकते हैं. यह आप के करियर, काम और कौशल को मजबूत आधार प्रदान करेगा. अपना स्वतंत्र ब्लॉग लिखते हुए भी फैशन लेखक, फैशन फोटोग्राफर आदि के रुप में फ्रीलासिंग की जा सकती है।

आज बहुत सी मैगजीन्स ब्लॉगर से फैशन फीचर्स लिखवाती है और उसके लिए अच्छा खासा पैसा देती है. इससे ब्लॉगर को एक फैशन फीचर राइटर के रुप में भी पहचान मिल जाती है तो दूसरी ओर उसका स्वतंत्र फैशन ब्लॉग भी चलता रहता है. फैशन फोटोग्रफी से ब्लॉग में निखार लाया जा सकता है. इसमें पारखी नजर, दूरदर्शिता और शब्दों को आकर्षक रुप में पिरोने की कला खास भूमिका निभाते हैं।

ब्लॉग की सफलता उसकी सर्चिंग पर निर्भर करती है, जो उसे पढ़ते हैं और अपनी प्रतिक्रिया देते हैं. आज हर किशोर या युवा फैशन के प्रति अपडेट रहता है. ऐसे में फैशन ब्लॉगर को काफी लोगों द्वारा सर्च करना स्वाभाविक है. इसी आधार पर फैशन ब्लॉग की सफलता और आमदनी निर्भर करती है. ब्लॉग जितना अधिक सर्च किया जाएगा उसी आधार पर ब्लॉगर के क्लाइंट और आमदनी में बढ़ोतरी होगी. एक अनुमान के मुताबिक फैशन ब्लॉगर 50 हजार से लेकर 5 लाख रुपए तक कमा सकता है. हालांकि यह आमदनी कम ज्यादा हो सकती है।

चर्चित ब्लॉगर की सेवाओं का उपयोग, कंपनियों की मार्केटिंग स्ट्रेटजी का एक हिस्सा है. ऐसी कंपनियां ब्लॉगर को एकमुश्त राशि का भुगतान कर, उसमें अपने विज्ञापन देती है जिससे वह ब्लॉग पढऩे वाले हर व्यक्ति तक पहुंच सके. ब्लॉगिंग की दुनिया में कंपनियों की यह रणनीति  प्रचार-प्रसार में कारगर सिद्ध होती है. लेकिन यह अभी सैद्धांतिक स्तर पर शैशवावस्था में ही है।

फैशन ब्लॉगर की भूमिका

फैशन के नये ट्रेंड खोजने के लिए लोग आमतौर पर इंटरनेट का सहारा लेकर नये प्रोडक्ट का पता लगाते हैं. लेकिन सही फैशन और मैचिंग एक्सेसरीज की जानकारी प्राय कम लोग ही रखते हैं. ऐसे में फैशन बलॉग उन्हें सही चीजों की जानकारी देते हैं. फैशन ब्लॉगिंग ब्लॉग की दुनिया का एक नया ट्रेंड है, जो फैशन डिजाइनर्स और एक्सपर्ट्स को अभिव्यक्ति का नया आधार उपलब्ध कराता है. फैशन वास्तव में फ्यूजन का नाम है. हर डिजाइनर कुछ क्रिएटिव करता है, लेकिन साधारण डिजाइनर्स को बड़ा प्लेटफार्म नहीं मिल पाता और वे गुमनाम रह जाते हैं।

अपनी क्रिएटिविटी को फैशन ब्लॉग के जरिए दिखाया जा सकता है. नया ट्रेंड, नया फ्यूजन, नई एक्सेसरीज के बारे में लिख कर यूजर्स को आकर्षित करना अब सहज हो चला है. ब्लॉग के जरिए लोगों तक अपनी बात पहुंचाने में सोशल मीडिया बेहतर भूमिका निभाता है. यही कारण है कि रिया गुप्ता, रितु आर्य, जिया कश्यप आदि आज जानेमाने फैशन ब्लॉगर हैं. उनके कई समर्थक उनके फैशन ब्लॉग लगातार फॉलो करते हैं. फैशन उद्योग में उनके कई ब्रांड अपनी पहचान रखते हैं ब्लॉगर का फैशन डिजाइनर होना जरुरी नहीं है बल्कि फैशन की गहन जानकारी होनी चाहिए. ब्लॉग वास्तव में अपने काम के लिए एक पोर्टफोलियो की तरह काम करता है. फैशन डिजाइनिंग की शिक्षा देश विदेश के कई संस्थानों में दी जाती है. यह व्यक्तिगत कला कौशल पर निर्भर करता है कि आप की अभिरुचि किस क्षेत्र में है.






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *